किशनगंज: जिले के मैट्रिक और इंटरमीडिएट के 26,000 परीक्षार्थी के टीकाकरण का लक्ष्य ससमय पूरा करे: जिलाधिकारी

किशनगंज:- सूबे के साथ जिले में भी 3 जनवरी से किशोरों के कोविड टीकाकरण की मुहिम लगातार जारी है। अबतक लक्ष्य का मात्र 18 प्रतिशत किशोरों का टीकाकरण हो पाया है। जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग ज्यादा से ज्यादा लाभार्थियों को टीकाकरण के सुरक्षा चक्र के अंदर लाने हेतु प्रयासरत है। अब निकट भविष्य में जिले में मैट्रिक के 16 हजार एवं इंटरमीडिएट के 10 हजार किशोरों के लिए परीक्षाएं होने वाली हैं। इस पर अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य विभाग के दिशानिर्देश के आलोक में सोमवार को जिले के 15 से 18 वर्ष तक के शतप्रतिशत किशोर एवं किशोरियों को सफलतापूर्वक कोविड- 19 वैक्सीन का टीका लगाने लिए जिला स्तरीय समन्वय बैठक जिला सभागार में जिला पदाधिकारी डॉ आदित्य प्रकाश की अध्यक्षता में हुई। बैठक को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि उक्त परीक्षाओं में 15 से 18 वर्ष के 26,000 परीक्षार्थी सम्मिलित होंगे। ऐसे में लाभार्थियों की भीड़ जुटने से कोविड संक्रमण के प्रसार की संभावना है। इसकी रोकथाम के लिए आवश्यक है कि सभी योग्य लाभार्थियों का टीकाकरण परीक्षा से पूर्व पूर्ण कर लिया जाये। इसे लेकर विशेष तैयारी करने की जरूरत है। इसके लिये अलग से सत्र आयोजित किये जायें। सभी हाईस्कूल व इंटरमीडिएट विद्यालयों में टीकाकरण सत्र का आयोजन का निर्देश उन्होंने दिया। युवाओं के टीकाकरण में केवल कोवैक्सीन का प्रयोग होना है। जिलाधिकारी ने कहा कि सत्र स्थलों पर विधि व्यवस्था के संधारण को लेकर सभी जरूरी इंतजाम सुनिश्चित कराये जायें। निर्धारित आयु वर्ग की किशोरियों के टीकाकरण में उन्होंने आईसीडीएस व जीविका की भूमिका को महत्वपूर्ण बताया। अभियान की सफलता में उन्होंने सभी बीडीओ, एमओआईसी, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, सीडीपीओ सहित अन्य को सामूहिक भागीदारी निभाते हुए अभियान के सफल संचालन का निर्देश दिया।उन्होंने कहा कि कोविन पोर्टल पर लाभुकों के पंजीकरण के साथ-साथ सत्र स्थलों पर ऑन स्पॉट पंजीकरण की सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। बैठक में सिविल सर्जन डा. कौशल किशोर ,जिला शिक्षा पदाधिकारी सुभाष गुप्ता , जिला कार्यक्रम पदाधिकारी आईसीडीएस कविप्रिया ,जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ मंजर आलम , जिला कार्यक्रम प्रबंधक डॉ मुनाजिम , जिला मूल्यांकन एवं अनुश्रवण पदाधिकारी शशि भूषण , जिला योजना समन्वयक स्वास्थ्य विश्वजीत कुमार स्वास्थ्य विभाग की सहयोगी संस्था यूनिसेफ के एसएमसी, डब्ल्यूएचओ के एए सहित अन्य कर्मियों ने हिस्सा लिया।

Leave a Comment