HomeBusinessLIC IPO GMP: लिस्टिंग से पहले GMP में इतनी गिरावट, पहले दिन...

LIC IPO GMP: लिस्टिंग से पहले GMP में इतनी गिरावट, पहले दिन निवेशकों को हुआ नुकसान!

देश के सबसे बड़े IPO के बाद सरकारी बीमा कंपनी LIC के Share कल सूचीबद्ध होंगे। प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश, जो 6 दिनों तक चली, एक रिकॉर्ड थी और लगभग हर श्रेणी में अच्छी प्रतिक्रिया मिली। पिछले हफ्ते LIC के शेयर भी आवंटित किए गए थे (LIC Share Listing)। जिनके पास शेयर हैं, उनके शेयर आज, सोमवार को उनके डीमैट खाते में जमा किए जाएंगे। हालांकि, सफल आईपीओ में निवेशकों के लिए लिस्टिंग से पहले बुरी खबर थी। ग्रे मार्केट में एलआईसी आईपीओ (LIC IPO GMP) के लिए प्रीमियम लिस्टिंग से पहले और गिर गया, जो एक रियायती लिस्टिंग का संकेत देता है।

लिस्टिंग से पहले इतना गिर चुका GMP

लिस्टिंग से एक दिन पहले सोमवार को LIC के IPO का GMP गिरकर 25 रुपये नकारात्मक हो गया था। एक समय ग्रे मार्केट में इसका कारोबार 92 रुपये के प्रीमियम पर होता था। Top Share Broker के मुताबिक LIC IPO के लिए मौजूदा Gray Market Premium -15 रुपये है। दूसरी ओर, LIC IPO के लिए GMP IPO Watch पर 25 रुपये तक बढ़ गया है। यह GMP का संकेत है कि निवेशकों को पहले दिन नुकसान उठाना पड़ सकता है।

LIC के IPO को मिला ऐसा रिस्पॉन्स

आपको बता दें कि देश के सबसे बड़े IPO में 16,20,78,067 शेयर जारी किए गए और 47,83,25,760 बोलियां मिलीं। पॉलिसीधारक श्रेणी में आईपीओ को 6.12 गुना अभिदान मिला। इसी तरह, LIC कर्मचारियों के लिए आरक्षित हिस्से को 4.4 गुना अभिदान मिला। खुदरा निवेशकों के शेयरों को भी 1.99 गुना अभिदान मिला। इसके अलावा, क्यूआईबी स्पेशल पार्ट को 2.83 गुना और NII पार्ट को 2.91 गुना सब्सक्राइब किया गया था। कुल मिलाकर LIC का IPO 2.95 गुना सब्सक्राइब हुआ।

LIC होगी पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी

BSI और NSI पर छूट वाली लिस्टिंग के बाद भी LIC का बाजार पूंजीकरण (LIC MCap) 600 करोड़ रुपये से अधिक है। अगर ऐसा होता है तो LIC सार्वजनिक होते ही भारत की पांचवीं सबसे बड़ी लिस्टेड कंपनी बन जाएगी। केवल Reliance Industries Ltd, TCS, HDFC Bank और Infosys मूल्यांकन के रूप में बाजार पूंजीकरण के मामले में सरकारी बीमा कंपनियों का नेतृत्व करना जारी रखेंगे।

Related Posts

Recent Posts

- Advertisement -