Kishanganj

किशनगंज: जिले भर के सेशन साइट पर 15 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का किया जा रहा टीकाकरण एवं कोविड अनुरूप व्यवहार हेतु जागरूक

किशनगंज: जिले में कोविड-19 संक्रमण के तीसरे लहर के खिलाफ लड़ाई के लिए व्यापक पैमाने पर इंतजाम है। इस महामारी से लोगों को स्थाई निजात दिलाने के लिए जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह अलर्ट मोड में है। संक्रमण की गति को बढ़ावा नहीं मिले, इस उद्देश्य से जिले में कोविड-19 वैक्सीनेशन के साथ जाँच की रफ्तार भी तेज कर दी गई। ताकि जल्द से जल्द से अधिक से अधिक लोगों की जाँच हो सके और संक्रमण की रफ्तार को बढ़ावा नहीं मिले।

उल्लेखनीय है कि बीते 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 84 नये मामले मिले वहीं 50 संक्रमित मरीज ठीक भी हुए हैं।जिले में अभी कोरोना के एक्टीव केसों की संख्या 495 है।
जिला पदाधिकारी, डॉ आदित्य प्रकाश ने बताया जिले में युद्धस्तर पर कोविड टीकाकरण जारी है।स्वास्थ्य केन्द्रों सहित उच्च विद्यालय ,आंगनवाड़ी केन्द्रों में टीकाकारण कार्य किया जा रहा है।टीकाकरण के साथ पंचायत क्षेत्र के गांवों में वहां के किसी विद्यालय ,भवन या अन्य सार्वजनिक भवनों में एकत्रित 15 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों का टीकाकरण के साथ-साथ कोविड अनुरूप व्यवहार अनुपालन हेतु जागरूक भी किया जा रहा है।

जिले में जारी है 15+ आयुवर्ग का टीकाकरण, वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित और प्रभावी है:-

जिले में आज तक 9.03 लाख 15 वर्ष के ऊपर के व्यक्ति को प्रथम तथा 6.31 लाख व्यक्ति को दूसरी डोज दी गयी है । जिसमे कुल 15 वर्ष से 17 वर्ष के 26971 किशोर है उनका टीकाकरण किया गया है तथा प्रिकोषण डोज 4536 व्यक्ति को दिया गया है। सिविल सर्जन डॉ कौशल किशोर प्रसाद ने बताया ग्रामीण स्तर पर कम पढ़े- लिखे लोगों के बीच वैक्सीन को लेकर कुछ भ्रांतियां बैठ गई है कि पता नहीं वैक्सीन लगवाने के बाद क्या होगा? ऐसे लोगों से अपील करते हुए मैं यह कहना चाहता हूँ कि कोरोना के संक्रमण से बचाव में भारत सरकार द्वारा हमलोगों के बीच उपलब्ध करवाई गई कोवैक्सीन और कोविशील्ड पूरी तरह से सुरक्षित और सौ फीसदी प्रभावी है। इसलिए ,सभी आयु वर्ग के लोग कोविड वैक्सीन को लेकर मन में पनप रही सभी भ्रांतियों को दरकिनार करके वैक्सीनेशन के लिए आगे आएं और अपने आस- रहने वाले लोगों को भी वैक्सीन के सुरक्षित और प्रभावी होने की सही जानकारी देकर वैक्सीनेशन के लिए जागरूक करें।

शरीर की रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता के विकास में हमारा दैनिक खान-पाना खास महत्वपूर्ण –

सिविल सर्जन डॉ कौशल किशोर प्रसाद ने बताया कोरोना महमारी के इस दौर में हम अपने जीवनशैली में बदलाव के लिये मजबूर हैं। व्यक्तिगत स्चछता संबंधी हमारी आदतें व खानपान पहले हमारे पसंद व नापसंद पर आधारित हुआ करते थी। लेकिन बदलते वक्त के साथ आज स्वच्छता, स्वास्थ्य व पोषण का मुद्दा लोगों की प्राथमिकता में शुमार हो चुका है। वैश्विक महामारी ने हमें अपनी खान-पान की आदतें व स्वच्छता संबंधी मामलों पर विशेष ध्यान देने के लिये विवश कर दिया है। अब तक ये स्पष्ट हो चुका है कि हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधात्मक क्षमता के विकास में हमारा दैनिक खान-पान खास महत्वपूर्ण है। बीमारी के दौरान अच्छे खान-पान से ज्यादा महत्वपूर्ण है कि हम हमेशा पोषण युक्त खाद्य पदार्थ को अपने जीवन में शामिल करें। जो हमें किसी भी रोग से लड़ने के लिये जरूरी शक्ति प्रदान करता है। तो स्वच्छता संबंधी हमारी आदतें हमें अनगिनत बीमारियों से दूर रखता है।

15 से 18 वर्ष के सभी विद्यार्थियों को टीकाकृत करने की मुहीम जारी है।

सिविल सर्जन डॉ कौशल किशोर प्रसाद ने बताया जिले में 3 जनवरी से किशोरों के कोविड टीकाकरण की मुहीम लगातार जारी है। जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग ज्यादा से ज्यादा लाभार्थियों को टीकाकरण के सुरक्षा चक्र के अंदर लाने हेतु प्रयासरत है।अब निकट भविष्य में राज्य में मैंट्रिक एवं इंटरमीडिएट परीक्षाएं आयोजित की जाने वाली हैं, इनमे काफी संख्या में परीक्षार्थी शामिल होंगे। ऐसी स्थिति में सभी परीक्षा केंद्रों पर भीड़ जुटने की संभावना है। इसे ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग 15 से 18 वर्ष के सभी विद्यार्थियों को टीकाकृत करने की मुहीम चलाने जा रहा है जो इन परीक्षाओं में शामिल होंगे। उक्त परीक्षाओं में काफी संख्या में 15 से 18 वर्ष के योग्य लाभार्थी सम्मिलित होंगे। ऐसे में लाभार्थियों की भीड़ जुटने से कोविड संक्रमण के प्रसार की संभावना है और इसके रोकथाम के लिए आवश्यक है कि सभी योग्य लाभार्थियों का टीकाकरण परीक्षा से पूर्व पूर्ण करने के लिए जिला स्वास्थ्य विभाग प्रयासरत है।