India

सर्वे में हुआ खुलासा 66% पुरुषों को अपनी पत्नियों से सेक्स से इनकार करने में कोई समस्या नहीं है

Advertisement

66% पुरुष सोचते हैं कि पत्नी का सेक्स से इंकार करना ठीक है। इसके कारणों में शामिल हैं – पार्टनर को एसटीडी है, दूसरा पार्टनर है, या सिर्फ इसलिए कि वह नहीं चाहती है या थकी हुई है। राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण (एनएफएचएस) में यह खुलासा हुआ है। सर्वेक्षण से पता चलता है कि अभी भी बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जो मानते हैं कि महिलाएं शादी के बाद सेक्स करने से इंकार नहीं कर सकती हैं।

सर्वे के मुताबिक, 80% महिलाओं ने कहा कि जब महिलाएं थकी हों तो पुरुषों को सेक्स के लिए जोर नहीं देना चाहिए। साथ ही लगभग 8% महिलाओं और 10% पुरुषों का मानना ​​है कि इन तीन कारणों से भी पत्नियों को सेक्स से इंकार नहीं करना चाहिए। पांच में से चार से अधिक महिलाएं (82%) अपने पतियों को अस्वीकार कर सकती हैं यदि वे सेक्स नहीं करना चाहती हैं। गोवा (92%) में, महिलाओं के ना कहने की सबसे अधिक संभावना थी, जबकि अरुणाचल प्रदेश (63%) और जम्मू और कश्मीर (65%) में महिलाओं के ना कहने की संभावना सबसे कम थी।

पत्नी को पीटनो लेकर सर्वे में खुलासा

सर्वेक्षण में भाग लेने वाले 15-49 आयु वर्ग के थे। इसी सर्वेक्षण से यह भी पता चला कि 45% महिलाओं और 44% पुरुषों का मानना ​​था कि पति द्वारा अपनी पत्नी को पीटना उचित है। कारणों में उसे घर छोड़ने के लिए नहीं कहना, बच्चों की उपेक्षा करना, घर के कामों की उपेक्षा करना, उसके साथ बहस करना, सेक्स करने से मना करना, ठीक से खाना न बनाना, उसके ससुराल वालों का अनादर करना, या अफेयर होने का संदेह होना शामिल है।

Advertisement

वैवाहिक बलात्कार को अपराध घोषित करने पर बहस

केंद्र ने दिल्ली हाईकोर्ट में वैवाहिक बलात्कार के अपराधीकरण पर सुनवाई में भारतीय दंड संहिता की धारा 375 की संवैधानिकता को चुनौती दी। केंद्र ने इस मुद्दे पर स्पष्ट रुख अपनाने से इनकार कर दिया है। यह आईपीसी की शर्तों की समीक्षा के लिए और समय मांगता है।

Leave a Comment